Home / Others / धन्वंतरि जयंती पर विशेष – जरूर पढ़े

धन्वंतरि जयंती पर विशेष – जरूर पढ़े

1

समुद्र मंथन के समय हुए भगवान् विष्णु के अवतार वैद्य धन्वंतरि के अवतार दिवस.. धन्वंतरि जयंती की आप सभी को शुभकामना एवम् राष्ट्रीय आयुर्वेद दिवस की शुभकामनाएं!

 

धन्वंतरिजी का प्रादुर्भाव समुद्रमंथन के बाद निर्गत कलश से अण्ड के रुप मे हुआ।

 

आज का दिन “धन” का ही नहीं “स्वास्थ्य” का भी है। वैद्य धन्वंतरि का जन्मदिवस इसीलिए मनाया जाता है कि यदि आप स्वस्थ हैं, तो इससे बड़ा धन कोई और नहीं है क्यूँकी अच्छा स्वास्थ्य ही सबसे बड़ी धन है। वेदों और पुराणों में इन्हें देवताओं का चिकित्सक कहा गया है और आयुर्वेदिक चिकित्सक इन्हें अपना आराध्य मानते हैं। यदि आपको वैभव रुपी माँ लक्ष्मी,ज्ञानरुपी माँ सरस्वती और विवेक रुपी प्रभु गणेश जी का आशीष चाहिए, तो सबसे पहले स्वस्थ होना आवश्यक है।

 

 

चूँकि इनका प्रिय धातु पीतल माना जाता है इसीलिये धनतेरस को पीतल आदि के बर्तन खरीदने की परंपरा भी है। इन्हें आयुर्वेद की चिकित्सा करनें वाले वैद्य आरोग्य का देवता कहते हैं। इन्होंने ही अमृतमय औषधियों की खोज की थी। जहाँ एक ओर शंकरजी ने विषपान किया, धन्वंतरिजी ने अमृत प्रदान किया।

 

सभी स्वस्थ रहें, मस्त रहें.. इन्हीं शुभकामनाओं के साथ सभी को “धनतेरस” की हार्दिक बधाई, अनेकों शुभकामनाएँ …!!

 

ॐ धन्वंतरये नमः॥

 

आपके स्वस्थ्य, सुख एवम् समृद्धि का आकांक्षी,

सदैव आपका प्रशंसक,

आपका अधिकार।

Comments

About Author

Check Also

मोदी जी की रैली में विरोध करने पर वृद्ध महिला का सर फोड़ा |

  प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान पुलिस का गैरजिम्मेदाराना रवैया सामने आया है मीडिया में …

Advertisment ad adsense adlogger