Home / Others / 4 दिन में बिका 10,000 करोड़ का 25 टन सोना !

4 दिन में बिका 10,000 करोड़ का 25 टन सोना !

देश में 500 और 1000 के नोट बैन होने के बाद हर तरफ अफरातफरी का माहौल है।हालाँकि अधिकांश लोग इस फैसले को अच्छा बता रहे हैं लेकिन इसके लागु करने के तरीके पर सवाल उठ रहे हैं,क्योंकि इसमें कई परेशानियां सामने आ रही है।500 और 1000 के नोट बैन होने से बाजार में एकाएक पैसों की भारी किल्लत हो गयी है।आपको बता दें कि भारत के कुल पैसों में 500 और 1000 के नोटों की वैल्यू 86 प्रतिशत थी,ऐसे में देश आज सिर्फ 14 प्रतिशत पैसों पर चल रहा है और जो थोड़े नये नोट लोगों को मिले हैं उसपे।इसका असर व्यवसाय पर भी परा है ,ज्यादातर क्षेत्र में मंदी जैसे हालात हैं तो एक क्षेत्र ऐसा भी है जिसमें जबर्दस्त उछाल देखने को मिल रहा है।आइये जानते हैं ऐसे कुछ महत्वपूर्ण सेक्टर्स के बारे में :-

Gold biscuits are in high demand
Gold biscuits are in high demand
1-सोना -500 और 1000 के नोट बैन होने के बाद सोना का व्यवसाय ही एक ऐसा व्यवसाय है जिसमें तेजी देखने को मिली है।लोग अपने पुराने 500 और 1000 के नोट लेकर सोने की दुकानों में पहुंच रहे हैं और मनमाना भाव देकर सोने की खरीददारी कर रहे हैं।देश के लगभग हरेक हिस्से से सोने के 45 से 50 हजार रुपये प्रति 10 ग्राम बिकने की खबरें आयी हैं।यानि सोना बाजार भाव से लगभग 150 से 200 प्रतिशत भाव में बिक रहा है।आभूषण के दुकानदार भी इस मौके का फायदा उठाने से नहीं चूक रहे और वो ज्यादा से ज्यादा भाव पर सोना बेच रहे हैं।सोने की बिक्री में आयी तेजी का अंदाजा ये है की पिछले चार दिनों में ही देश में करीब 10 हजार करोड़ रुपये की 25 टन सोने की खरीद -बिक्री हो चुकी है।
Mobile market is in trouble
Mobile market is in trouble
2-मोबाइल -मोबाइल की खरीद में लगभग 90 प्रतिशत की कमी आयी है,जाहिर है जब लोगों के पास पैसे है हि नहीं तो वो अपने ऐश्वर्य की वस्तुओं पर खर्च कहाँ से करेगा।यहां तो ब्लैक मनी भी नही  चल रही।ऑनलाइन शॉपिंग में भी बहुत गिरावट आयी है।
images-5
3-छोटी दुकानें-छोटी दुकानों की बिक्री 70 प्रतिशत तक घट गई है।लोगों के पास नये नोट आ नहीं रहे हैं और पुराने नोट दुकानदार स्वीकार नहीं कर रहे हैं।इसलिये बिक्री में इतनी गिरावट दर्ज की गयी है।बिक्री में गिरावट से छोटे व्यवसायी बहुत परेशान हैं।
A petrol pump(file photo)
A petrol pump(file photo)
4-पेट्रोल-डीज़ल -सोने के बाद पेट्रोल-डीजल की बिक्री में भी वृद्धि दर्ज की गयी है।इस सेक्टर में 5 प्रतिशत की बिक्री बढ़ी है।इसका कारण ये है कि पेट्रोल पंप पुराने नोट स्वीकार कर रहे हैं लेकिन छुट्टे पैसे नहीं होने के कारण अपनी शर्तों पर यानि की अगर आप 500 या 1000 रुपये का नोट लेकर पेट्रोल पंप जाते हैं तो आपको पुरे पैसे का पेट्रोल भरवाना होगा।
Real state business go down
Real state business go down
5-रियल स्टेट-रियल स्टेट एक ऐसा सेक्टर है जिसपर शायद इस फैसले की सबसे अधिक गाज गिरी है।अभी कोई भी व्यक्ति 1 सप्ताह में 20 हजार रूपये से ज्यादा पैसे नहीं निकाल सकता ,इसलिये कोई भी इससे ज्यादा का कारोबार नहीं कर पा रहा,और रियल स्टेट के क्षेत्र में जहां लाखों करोड़ों का कारोबार होता है,वहां 20 हजार से क्या होगा।इसलिये इस व्यवसाय में भी गिरावट दर्ज की गयी है।एक अनुमान के मुताबिक इसमें 50 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गयी है।
images-4
6-रिटेल स्टोर्स -शुरुआती गिरावट के बाद इस सेक्टर ने सम्भलना शुरू किया है।रिटेल स्टोर्स में सबसे ज्यादा खाने पिने की चीजें ही बिक रही हैं।पेमेंट ज्यादातर डेबिट या क्रेडिट कार्ड से ही हो रहा है।
unnamed
7-ई वालेट -ई वालेट और नन बैंकिंग ऑनलाइन पेमेंट में अचानक से तेजी आयी है,लोग जितना संभव हो रहा है इन माध्यमों का प्रयोग करके पेमेंट कर रहे हैं।इस वजह से इनमें लगभग 50 प्रतिशत की तेजी आयी है।

Comments

About Akshay Anand

mm
Akshay Anand write about the Political category at thenachiketa

Check Also

मोदी जी की रैली में विरोध करने पर वृद्ध महिला का सर फोड़ा |

  प्रधानमंत्री के भाषण के दौरान पुलिस का गैरजिम्मेदाराना रवैया सामने आया है मीडिया में …

Advertisment ad adsense adlogger