Home / Others / Nation Wants To Know! सुरक्षा देने में भेदभाव क्यों? 

Nation Wants To Know! सुरक्षा देने में भेदभाव क्यों? 

अब तक नेताओं की सुरक्षा पर सवाल उठाने वाले अर्नब बाबू को भी सफलतापूर्वक सुरक्षा मिल ही गई। अब उनका हृदय नेताओं की सुरक्षा पर खर्च होने वाले जनता के टैक्स के पैसों की बर्बादी पर चीत्कार नहीं मारेगा। अर्नब बाबू अब 2 निजी अंगरक्षकों समेत 20 अंगरक्षकों के घेरे में चला करेंगे। ये पहले नहीं हैं, इनसे पहले भी देश के स्वायम्भू राष्ट्रवादी पत्रकारों को अलग-अलग श्रेणी की सुरक्षा दी जा चुकी है। ज़ी न्यूज़ के संपादक सुधीर चौधरी को भी X-श्रेणी, पंजाब केसरी के आश्विन चोपड़ा को Z+ श्रेणी और उत्तराखंड में हरीश रावत का स्टिंग करने वाले समाचार प्लस के उमेश कुमार को Y-श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई है। अर्नब बाबू को भी Y-श्रेणी की सुरक्षा दी जा चुकी है। इससे एक बात तो निश्चित हो ही गयी कि देश में राष्ट्रवाद बहुत बड़े खतरे से गुज़र रहा है और राष्ट्रवादी पत्रकार उससे भी बड़े खतरे से।

कुछ और राष्ट्रवादी भी हैं इसी देश में जिन्होंने मध्य प्रदेश और देश के बड़े घोटालों में से एक ‘व्यापम’ घोटाले को उजागर किया है। RSS के स्वयंसेवक रहे RTI कार्यकर्ता आशीष चतुर्वेदी को मध्य प्रदेश सरकार ने व्यापम में हुई ढेर सारी संदिग्ध मौतों को मद्देनज़र रखते हुए एमपी पुलिस का एक जवान सुरक्षा के लिए दे रखा है।

व्यापम व्हिसल-ब्लोअर आशीष चतुर्वेदी

आपको यहाँ बताते चलें कि दो दिन पूर्व ही मुम्बई में RTI कार्यकर्त्ता 61 वर्षीय भूपेंद्र वीरे की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। वो अवैध अतिक्रमण के खिलाफ लड़ाई लड़ रहे थे, जिसके कारण कई बिल्डर उनकी जान के पीछे पड़े थे।

सरकार भी हमारी है। पैसा भी हमारा है। पर जनता की लड़ाई लड़ने वाले सुरक्षित नहीं हैं लेकिन जनता के नाम पर स्वार्थ सिद्ध करने वाले नेता और पत्रकार पूरे सुरक्षित हैं। आख़िरकार, उनकी सुरक्षा में ही राष्ट्र की सुरक्षा और राष्ट्रवाद की सुरक्षा निहित है।
अब खबर बनाने वाले खुद खबर बन रहे हैं। एक समय था, जब कलम बंदूक का विकल्प थी। एक समय है, जब कलम बन्दूक के साये में है, उसकी पनाह में है। ये बंदूकों की पनाह पाने वाली कलम भी अलग प्रकार की होती है, सभी कलमों को ये पनाह नहीं मिलती। मिलती तो, आये दिन RTI कार्यकर्ताओं की हत्याएं ना होतीं।

आरक्षित रूप से सुरक्षित सवालियों, तुमपर सवालिया निशान है?

Comments

About Vikas Shekhar

Check Also

c161019f-770f-4709-83b4-71989538f3de

10 Reasons Why BJP Will Lose Delhi MCD Election 2017

The municipal election in Delhi is scheduled to take place on April 23, with the …

Advertisment ad adsense adlogger