Home / Others / मदरसे का शिक्षक निकला अवैध असलहों का तस्कर!

मदरसे का शिक्षक निकला अवैध असलहों का तस्कर!

(मारुफ़ अहमद बाएं और मदरसा मुअल्लिम रउफ अहमद दायें)
(मारुफ़ अहमद बाएं और मदरसा मुअल्लिम रउफ अहमद दायें)

इलाहाबाद : मदरसे का मौलाना और उसका भाई अवैध हथियार तस्करी के आरोप में बुधवार को गिरफ्तार किये गए हैं। ये अवैध हथियार बिहार के मुंगेर और मध्य प्रदेश के खंडवा से तस्करी करके लायी जाती थीं। असलहों को मौलाना मदरसे में ही छुपा देता था, जिसके कारण इतने दिनों तक इसकी धरपकड़ नहीं हो सकी। मऊआइमा थाना क्षेत्र के रामफल की नारी के पास से मौलाना रउफ अहमद को पकड़ा गया है। मालूम हो की मुंगेर की अवैध गन फैक्ट्री पुरे देश में अवैध हथियारों के निर्माण के लिये कुख्यात है। पिछले कई मौकों पर बिहार पुलिस ने यहां से कई लोगों को गिरफ्तार भी किया है, लेकिन इनका नेटवर्क इतना गहरा है कि इनके कारोबार पर कोई फर्क नहीं पड़ा।पिछले साल दिल्ली पुलिस ने भी दिल्ली में एक ऐसे व्यक्ति को गिरफ्तार किया था, जिसके पास से मुंगेर निर्मित सैकड़ों बन्दूकें मिली थीं।

एसटीएफ को सूचना मिली थी कि अवैध हथियारों की तस्करी इलाहाबाद से आस-पास के जिलों में हो रही है। इसके बाद से ही एसटीएफ बदमाशों की धरपकड़ में लग गयी थी। एसटीएफ ने मौलाना रउफ अहमद और उसके छोटे भाई मारुफ़ अहमद पुत्र महबूब अहमद निवासी महुआवन लालगंज जिला प्रतापगढ़ को 28 अवैध पिस्तौलों के साथ गिरफ्तार किया है। तस्करों के पास से एक मोटरसाइकिल और दो मोबाइल भी मिले हैं। पकड़ा गया मौलाना प्रतापगढ़ के मान्यता प्राप्त मदरसा जामिया अब्दुल्ला कादीपुर महुआर, प्रतापगढ़ में मुअल्लिम है। एसटीएफ के सीओ प्रवीण सिंह के अनुसार ये पिस्टल खंडवा और मुंगेर से लाकर पूरे प्रदेश में तस्करी की जाती थीं।
इन्हें मदरसे में ही छिपाया जाता था, जिससे किसी को शक ना हो सके। इन दोनों भाइयों को इस तस्करी के अवैध धंधे में बाराबंकी का मौलाना हाफ़िज़ लाया था। हाफ़िज़ कई साल तक इलाहाबाद के ही शिवकुटी और करेली में रहा था, जहां एक बार उसकी गिरफ़्तारी भी हो चुकी है। फ़िलहाल वो जेल से बाहर है।

Comments

About Akshay Anand

mm
Akshay Anand write about the Political category at thenachiketa

Check Also

1

नम आँखों से ‘अम्मा’ को अंतिम विदाई देने उमड़ा पूरा तमिलनाड़ु, देखें लाइव अपडेट !

तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जे जयललिता के निधन के बाद पूरा देश गम में डूब हुआ …

Advertisment ad adsense adlogger