Home / Political / गुजरात में आवशे केजरीवाल

गुजरात में आवशे केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल शुक्रवार शाम को गुजरात पहुंच चूके हैं।वे यहां 16 अक्टूबर को होने वाली सूरत रैली को संबोधित करेंगे  और पार्टी द्वारा आयोजित और भी कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे।2014 लोकसभा चुनावों के बाद ये पहली बार है जब वो गुजरात में किसी राजनैतिक कार्यक्रम को संबोधित करने आ रहे हैं,इससे पहले इसी साल वो उना में हुए दलित पिटाई कांड के अभियुक्तों से मिलने गए थे एवं एक बार निजी यात्रा पर अपनी पत्नी एवं डॉ कुमार विश्वास के साथ सोमनाथ दर्शन करने भी गये थे।

आपको बता दें कि गुजरात में पिछली बार व्यापारियों के साथ सूरत के एक विश्विद्यालय परिसर में होने वाली मीटिंग की इजाजत विश्विद्यालय के कुलपति ने ये कह कर रद्द कर दी थी की अरविन्द केजरीवाल आ रहे हैं इसलिए वो इस कार्यक्रम की इजाजत नहीं दे सकते ।इस का वीडियो जारी करते हुए आम आदमी पार्टी ने ये आरोप लगाया था कि ये तत्कालीन मुख्यमंत्री आनंदीबेन पटेल ने प्रधानमंन्त्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के कहने पर ये काम करवाया था।हालाँकि भाजपा ने इसे विश्वविद्यालय का विशेषधिकार बता कर इस मामले से पल्ला झाड़ लिया था।फिर दूसरा विवाद तब आया जब केजरीवाल की इस सूरत रैली के लिए आप को महीनों तक प्रशासन की ओर से अनुमति नहीं मिली।

एयरपोर्ट पर केजरीवाल का इंतजार करते आप कार्यकर्ता
एयरपोर्ट पर केजरीवाल का इंतजार करते आप कार्यकर्ता

आम आदमी पार्टी इसके खिलाफ हाइकोर्ट गई और आरोप लगाया कि उसके साथ भेदभाव हो रहा है जबकि भाजपा और कांग्रेस को रैली की इजाजत मिल रही ही ,सिर्फ उसे ही निशाना बनाया जा रहा है।तब जाकर हाइकोर्ट के आदेश पर प्रशासन ने आप को रैली की इजाजत दी।ईसके बाद दिल्ली के मंत्री कपिल मिश्रा के नेतृत्व में आप ने सूरत में बाइक रैली भी निकाली।इस बीच गुजरात में जगह जगह केजरीवाल के विरोध में पोस्टर लगाए गये हैं।जिसमें उनको पाकिस्तान का हीरो बताया गया है ।आप का आरोप है इस तरह के घृणा फ़ैलाने वाले पोस्टर बीजेपी ने लगाए हैं।वहीं कुछ दिन पहले हार्दिक पटेल की पाटीदार अनामत आंदोलन ने ये आरोप लगाया कि बीजेपी उनकी टोपी पहन कर आप की रैली में हंगामा कर सकती है।उनके संगठन को केजरिवाल के गुजरात आने से कोई दिक्कत नहीं है।

केजरीवाल और हार्दिक पटेल के बीच आजकल ट्विटर पर भी एक जुगलबंदी देखने को मिल रही है ।दोनों एक दूसरे के ट्वीट रिट्वीट करते हैं।राजनितिक हल्के में ये कहा जा रहा है कि दोनों के बीच कोई खिचड़ी पक रही है।आम आदमी पार्टी ने गुजरात में चुनाव लड़ने का फैसला ही इसी लिए लिया है क्योंकि कांग्रेस गुजरात में बिलकुल कमजोर है और पाटीदारों के आंदोलन के बाद बीजेपी को भी अपना मुख्यमंत्री बदलना पड़ा है और उसकी स्थिति भी ठीक नहिं है ।ऐसे में आप के पास बेहतरीन मौका है राज्य में अपनी पकड़ बनाने का ।

  • गुजरात में नवरात्री के मौके पर एक गरबा भी काफी लोकप्रिय हुआ जिसके बोल थे गुजरात में आवशे केजरीवाल।यानि केजरीवाल गुजरात आ रहे हैं और दिल्ली की तरह यहां भी कमाल करेंगे।

गुजरात में आप को डॉ कनुभाई कलसरिया के रूप में एक नेता भी मिल गया है।कनुभाई की पहचान गुजरात में गरीबों ,किसानों के लिए संघर्ष करने वाले नेता के रूप में रही है।उन्होंने बीजेपी में रहते हुए मोदी का कई मामलों में खुल कर विरोध भी किया था।उन्हें राज्य स्तर पर आम आदमी पार्टी प्रमोट भी कर रही है।16 को होने वाली रैली अगर सफल रही तो इसका फायदा आप को गुजरात में तो मिलेगा ही ,आप इसे पंजाब और गोवा में भी भुनायेगी।उधर विवादों की कड़ी में एक और विवाद तब जुड़ गया जब अरविन्द केजरीवाल ने ट्वीट कर यह जानकारी दी की दिल्ली पुलिस ने आप के गुजरात सह प्रभारी गुलाब सिंह यादव के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है।

आप का कहना है कि दिल्ली पुलिस गुलाब को गिरफ्तार कर रैली की तैयारियां बिगाड़ना चाहती है।गुलाब सिंह ने कहा कि उन्होंने दिल्ली पुलिस से कहा था कि वो 18 अक्टूबर को हाजिर होंगे और अपना पक्ष रखेंगे।दिल्ली पुलिस का कहना है कि गुलाब बहाने बना रहे हैं।ये मामला  गुलाब के दो सहयोगियों पर दर्ज कराया गया है।जिसमें दिल्ली पुलिस गुलाब से भी पूछताछ करना चाहती है।बहरहाल ये मुद्दा आगे कितना गर्म होता है ये तो वक्त ही बताएगा।फ़िलहाल तो आप के लिए राहत की बात यही है कि 16 को गुजरात में इंटरनेट बन्द नहीं होगा,गुजरात सरकार ने अपना ये फैसला वापस ले लिया है ।और आप अब सोशल मीडिया पर अपना प्रचार सही तरीके से कर सकती है ।अब सब की नजर रहेगी अरविन्द केजरीवाल की सूरत रैली पर की ये गुजरात की राजनीती में कैसा असर डाल पाती है।

Comments

About Akshay Anand

mm
Akshay Anand write about the Political category at thenachiketa

Check Also

jaya_panner-selvam-new-cm-660x330

जयललिता को कार्डिएक अरेस्ट !वरिष्ठ डॉक्टरों की निगरानी में हो रहा इलाज।

पिछले दो महीनों से अस्पताल में भर्ती तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता के समर्थकों के लिये …

Advertisment ad adsense adlogger