Home / Sports / Anup Kumar, Captain – Exclusive Interview After India won Worldcup [Hindi]

Anup Kumar, Captain – Exclusive Interview After India won Worldcup [Hindi]

भारतीय कबड्डी टीम को कबड्डी विश्वकप में जीत दिलाने वाले कप्तान अनूप कुमार आज सफलता के शिखर पर हैं ,लेकिन अनूप को ये सफलता इतनी जल्दी नहीं मिली ,ये दौलत-शोहरत मिली है  उनकी कड़ी मेहनत और कभी न हार मानने वाले जज्बे की वजह से।गुरुग्राम के पालरा गांव में 20 नवम्बर 1983 को अनूप का जन्म हुआ।बचपन में अनूप स्कूल में कबड्डी टाइम पास करने के लिए खेलते थे,तब उन्हें कहाँ पता था कि ये टाइम पास ही एक दिन उनकी जिंदगी बन जायेगा।

13

पिता सेना में थे उनके घर भी ‘पढोगे लिखोगे बनोगे नवाब,खेलोगे धुपोगे बनोगे ख़राब’वाली पद्धति ही चल रही थी।इसलिये शुरुआत में अनूप को कबड्डी खेलने में परिवार का सपोर्ट नहीं मिला,उन्होंने हिम्मत नहिं हारी और अपना काम करते रहे।फिर वो दिन भी आया जब अनूप को भारतीय टीम के लिए खेलने का मौका मिला।कई बड़ी जीतों में वो टीम के नायक भी रहे,लेकिन उनकी जिंदगी बदली प्रो कबड्डीलीग से।इसमें उन्हें यू मुंबा टीम का कप्तान बनाया गया,पहले सीज़न में वो मोस्ट वैल्युएबल प्लेयर चुने गए ।उनके नेतृत्व में टीम ने 2015 में ख़िताब भी जीता।तब से ही अनूप की जिंदगी पूरी तरह बदल गयी।अब विश्वविजेता बनने के बाद तो इस कहानी में और भी मोड़ आने हैं।अनूप अविवाहित हैं और अब तो उनके लिए रिश्तों की लाइन लगने वाली है।अनूप हरियाणा पुलिस में डीएसपी हैं।हमने उनसे उनकी जिंदगी के विभिन्न पहलुओं पर विस्तृत बात की और उन्होंने सभी सवालों का जवाब बिलकुल खुले दिल से दिया।आप भी पढ़िए उनसे हमारी ये रोचक बातचीत।

The Nachiketa:सबसे पहले तो आप को भारत को विश्वकप जिताने की बहुत बहुत बधाई
अनूपकुमार :धन्यवाद !

The Nachiketa:भारत में सबसे ज्यादा क्रिकेट का ही क्रेज है।ऐसे में आपने एक ऐसे खेल कबड्डी में भारत को विश्वविजेता बनाया ,जिसको ज्यादा लोग देखते नहीं हैं ।इस उपलब्धि को हासिल करने में किसका सपोर्ट मिला ,किन लोगों ने मदद की ?
अनूप:देखिये सपोर्ट तो काफी मिल रहा है अभी कबड्डी को।हमारी एक लीग स्टार्ट हुई प्रो कबड्डी लीग,उसकी वजह से कबड्डी नित नयी बुलंदियों को छू रही है,और इसके बढ़ावे की बात करें तो अब तो सरकार भी बहुत ज्यादा ध्यान दे रही है।और खास कर स्टार स्पोर्ट्स इसको लाइव दिखा रहा है,इसको इतने अच्छे से प्रस्तुत कर रहा है,उसका हमें काफी फायदा मिल रहा है।

The Nachiketa:आपका कबड्डी में कब से इंटरेस्ट बना?कैसे आप कबड्डी में आये?
अनूप:कबड्डी में मेरा इंटरेस्ट तो काफी सालों से है।15-16 साल से मैं कबड्डी खेल रहा हूँ।मेरे गांव में जो मेरे सीनियर थे ,वो कबड्डी खेलते थे,उनको देखके मेरा इंटरेस्ट बढ़ा कबड्डी में ।

The Nachiketa:क्या आपने कभी सोचा था कि आप भारतीय टीम का विश्वकप में प्रतिनिधित्व कर पाएंगे और जीत भी दिलायेंगे ?
अनूप:देखिये मैंने तो कभी सोचा ही नहीं था कि मैं नेशनल भी खेलूंगा।जब शुरुआत की थी तो ये भी नहीं पता था कि कबड्डी इंटरनेशनल लेवल पे भी होता है,खेल में अच्छा प्रदर्शन करने वालों को अर्जुन अवार्ड भी मिलता है,स्पोर्ट्स कोटा से नौकरियां भी मिलती हैं।तो इतना सोच के तो आये नहीं थे,पहले तो ऐसे ही खेलना शुरू किया था,फिर धीरे धीरे जानकारी बढ़ती गयी ,मेहनत करते गये और आज आखिर में यहां तक पहुंच गये।

The Nachiketa:जैसा की हमारे हिंदुस्तान में हरेक मध्य वर्गीय परिवार की एक इक्षा होती है,जैसे ही लड़का बड़ा होता है कि लड़का सरकारी नौकरी करे ,प्राइवेट करे!कहीं सेटल हो जाये,खेल में लोग नहीं जाने देना चाहते तो इस मामले में आपको कैसा सपोर्ट मिला परिवार से ?
अनूप:देखिये शुरुआत में जब खेलना शुरू किया था ,तब तो सपोर्ट नहीं था परिवार का ।कोई भी परिवार यही सोचता है कि खेल में पता नहीं क्या होगा,नहीं होगा,क्या भविष्य है ?इससे अच्छा है कि लड़का पढ़ लिख कर कोई नौकरी करे ,जिंदगी सेटल हो जाये।सब की यही सोच होती है,शुरुआत में मुझे भी इन बातों का सामना करना पड़ा ,फिर जब परिवार को लगने लगा की खेल में ही अच्छा करेगा ,फिर उनका भी सपोर्ट मिलने लगा।

The Nachiketa:जैसा की आप जानते हैं कि भारत में क्रिकेट में बहुत पैसा है,कई कंपनियां क्रिकेट खिलाड़ियों को अपना ब्रांड एम्बेसडर बनाती है और क्रिकेटर करोड़ों -अरबों कमाते हैं,कबड्डी में ऐसा नहीं है,ओलिंपिक खेलों में एक बात है कि जब आप मेडल जीतते हैं तब आप पर इनामों की बरसात हो जाती है,आपको केंद्र सरकार ,राज्य सरकारों द्वारा करोडों रूपये मिल जाते हैं,कबड्डी में अब जब आपने विश्वकप जीता है तो क्या आपको कोई सुचना दी गयी है कि आपको इनाम के तौर पे कितना मिलेगा,क्या सुविधायें मिलेगी ?
अनूप:देखिये इस बारे में तो मुझे ज्यादा नहीं पता ,लेकिन केंद्र सरकार की शायद नीति है कि वर्ल्ड कप जीतने पर 40 लाख मिलते हैं और हरियाणा सरकार की नीति 20 लाख की है।तो उसके लिए कुछ फॉर्म भरने पड़ते हैं।मैंने सुना है कि 3 तारीख को दिल्ली में एक कार्यक्रम है जिसमें हमारे खेल मंत्री विजय गोयल जी सभी खिलाड़ियों को सम्मानित करेंगे और 10-10 लाख रूपये देंगे।अभी ये बात कन्फर्म तो नहीं है लेकिन कल से परसों तक ये क्लियर हो जायेगा।

The Nachiketa:आप एक खिलाड़ी हैं तो आपको पता है कि खिलाड़ियों के साथ क्या समस्याएं आती हैं,सुविधाओं की ,स्टेडियम की ,और भी कई तरह की समस्याएं हैं।तो आप खेल मंत्री के रूप में किसे देखना चाहेंगे किसी पूर्व खिलाड़ी को या किसी राजनेता को ?
अनूप:देखिये खेल मंत्री कोई भी कोई फर्क नहीं पड़ता ,बस खेल मंत्री जो भी हो वो खेल को बढ़ावा दे,खिलाड़ियों के हितों की रक्षा करे।खिलाड़ियों को इससे ज्यादा कुछ नहीं चाहिए।

The Nachiketa :कबड्डी में जो अब इतनी अचीवमेंट मिल रही हैं,एशियन गेम्स हो या वर्ल्ड कप,पहले ऐसा नहीं था।आप इसके पीछे क्या वजह मानते हैं ,सरकार की कोई नीति बदली है,जिससे ये बदलाव दिख रहा है।
अनूप:देखिये सरकार की नीति का निश्चित तौर पर असर पड़ता है ,पहले जहाँ तक मुझे पता है कि केंद्र सरकार और हरियाणा सरकार दोनों की नीति विश्वकप जितने पर 5 लाख रुपये देने की थी ,जिसे दोनों सरकारों ने बढ़ाया है,तो इन बातों से खिलाड़ियों का मनोबल तो बढ़ता ही है।

The Nachiketa:आखिर में एक सवाल,जो लोग पहले आपसे मिलते थे,आपके यार दोस्त,जानने वाले और अब विश्वकप जीतने के बाद मिलते हैं तो पहले के अनूप और अब के अनूप में क्या बदलाव आया है।
अनूप:देखिये अनूप तो पहले जैसा था वैसा ही है,मेरे अंदर तो कोई बदलाव नहीं आया है ।लेकिन जो लोग मिलते हैं उनमें जरूर बदलाव आ गया है ।कोई भी बात करता है तो इज्जत से बात करता है,कहीं भी जाता हूँ तो लोग बहुत प्यार देते हैं।तो समाज में जो इज्जत मिल रही है उसकी मुझे बहुत ख़ुशी है।जिंदगी तो अब बिलकुल ही चेंज हो गयी है।लोगों की नजर में अब वो अनूप नहीं है जो पहले था।

The Nachiketa:अनूप जी आप ऐसे ही देश का नाम रोशन करते रहें और भी भारत को जीत दिलाते रहें।आपको दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें।
अनूप:धन्यवाद!आपको और thenachiketa.com के सभी पाठकों को भी दीपावली की हार्दिक शुभकामनायें।

 

Comments

About Akshay Anand

mm
Akshay Anand write about the Political category at thenachiketa

Check Also

1

विराट कोहली ने राजकोट में अनुष्का संग मनाया जन्मदिन, देखें तस्वीरें !

भारतीय क्रिकेट की नयी रन मशीन विराट कोहली ने ने अपना जन्मदिन राजकोट में अनुष्का …

Advertisment ad adsense adlogger