Home / Political / यूपी की जंग:क्या भाजपा जमायेगी रंग ?

यूपी की जंग:क्या भाजपा जमायेगी रंग ?

images-15

अगले साल जिन राज्यों में चुनाव हैं,निश्चित तौर पे उनमें सबसे बड़ा और सबसे ज्यादा महत्व का राज्य है उत्तर प्रदेश।कहते हैं कि दिल्ली का रास्ता लखनऊ होके जाता है ,ये बात 2014 के लोकसभा चुनावों में सच भी साबित हुई,जब यूपी ने भाजपा और सहयोगियों को 80में से 73 सीटें देकर संसद भेजा।लेकिन इन सीटों से भाजपा की सरकार केन्द्र में तो बन गयी,लोकसभा में तो पूर्ण बहुमत मिल गया,लेकिन राज्यसभा में पार्टी अभी भी बहुमत के लिए संघर्ष कर रही है।पार्टी के 2015 का साल निराशाजनक रहा जहाँ उसे दिल्ली और बिहार में करारी हार का सामना करना पड़ा,और एक एक राज्यसभा सीट के संघर्ष कर रही भाजपा के हाथ से बहुमत और दूर चला गया।ऐसे में उत्तर प्रदेश चुनाव भाजपा के लिए बहुत माजत्वपूर्ण है क्योंकी इसी राज्य से राज्यसभा के सबसे ज्यादा सांसद आते हैं ।यूपी में जीत भाजपा को राज्यसभा में जीवनदान देगी।इसके लिए पूरा भाजपा नेतृत्व पूरी ताकत झोंक रहा है।

प्रधानमंत्री का लखनऊ जाकर दशहरा मनाना भी राजनितिक हल्कों में चुनावी रणनीति के तहत ही लिया गया।इस बीच इंडिया टुडे-एक्सिस के द्वारा किये गए एक सर्वे ने राजनैतिक माहौल और भी गर्म कर दिया है।इस सर्वे की मानें तो यूपी की जंग में भाजपा 170-183 सीटों के साथ सबसे आगे चल रही है लेकिन बहुमत के आंकड़े से अब भी दूर है,वहीं दूसरे नम्बर पर 115-124 सीटों के साथ मायावती की बसपा है,वर्तमान में सत्तासीन समाजवादी पार्टी  94-103 सीटों के साथ तीसरे नम्बर पर खिसकती दिख रही है।जबकि अपने पुनरुत्थान के लिए हर संभव कोशिश करने वाली कांग्रेस 8-12 सीटों के साथ चौथे नम्बर पर है।अन्य के खाते में 2-6 सीट आने की उम्मीद है।बता दें कि यूपी विधानसभा में 403 सीटें है और बहुमत के लिए 202 सीटें चाहिए।सर्वे राज्य में त्रिशंकु विधानसभा के संकेत दे रहा है,ऐसे में हमें चुनाव के बाद भी गठबंधन बनते दिख सकते हैं।इस सर्वे में कुछ और भी खास बातें सामने आयी हैं।

सबसे महत्वपूर्ण सवाल है कौन बनेगा मुख्यमंत्री।इस सवाल के जवाब में लोगों ने 31 प्रतिशत वोट के साथ मायावती को अपनी पहली पसंद बताया,जबकि वर्तमान मुख्यमंत्री अखिलेश यादव 27 प्रतिशत वोट के साथ दूसरे नम्बर पर रहे,मुलायम को मात्र 1 प्रतिशत लोगों ने अपनी पसंद बताया ,वहीं राजनाथ सिंह को 18 प्रतिशत और योगी आदित्यनाथ को 14 प्रतिशत लोगों ने अपनी पसंद बताया।वही दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री और अब कांग्रेस की यूपी में मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार शिला दिक्षीत को मात्र 1 प्रतिशत लोगों ने अपनी पसंद बताया,प्रियंका गांधी को भी मात्र 2 प्रतिशत लोगो  ने वोट दिया।जब लोगों से पूछा गया कि कानून व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए अगर उन्हें वोट देना हो तो किसे देंगे?इस पर लोगों ने 64 प्रतिशत वोट के साथ मायावती को चुना।

इससे लोगों का ये विश्वास पता चलता है कि कानून व्यवस्था के मामले में तो उन्हें मायावती से ज्यादा किसी पर भरोसा नहीं है।बहरहाल इस सर्वे से भाजपा नेताओं की बांछें खिली हैं तो बसपा का कहना है कि क्या लोग मायावती को चुनने के लिए बीजेपी को वोट देंगे।बसपा ही जीतेगी।सपा के लिए सन्देश ये है कि चचा भतीजा अपना झगड़ा सुलझाएं नहीं तो सायकल पंचर होना तय है और कांग्रेस के रणनीतिकार प्रशांत किशोर की किस्मत में पहली हार मिलने के संकेत मिलने लगे हैं।

Comments

About Akshay Anand

mm
Akshay Anand write about the Political category at thenachiketa

Check Also

jaya_panner-selvam-new-cm-660x330

जयललिता को कार्डिएक अरेस्ट !वरिष्ठ डॉक्टरों की निगरानी में हो रहा इलाज।

पिछले दो महीनों से अस्पताल में भर्ती तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता के समर्थकों के लिये …

Advertisment ad adsense adlogger