Home / Others / मुंबई और बिहार की बाढ़ में इंडिया और भारत जितना फर्क है ?

मुंबई और बिहार की बाढ़ में इंडिया और भारत जितना फर्क है ?

 

मुंबई का प्रतीकात्मक चित्र

मुंबई की एक दिन की बारिश को पूरा मीडिया ऐसे कवर कर रहा है मानो कितनी बड़ी प्राकृतिक आपदा आ गयी है जबकि सच्चाई ये है की ड्रेनेज की कमी के कारण मुंबई जैसे शहर में अगर थोड़ी से भी बारिश होती है तो ये एक ब्रेकिंग न्यूज़ बन जाती है ! वहीं, अगर बात करें बिहार की तो बिहार के लगभग उन्नीस जिले हर साल लगभग तीन महीने मुंबई से भी भयानक बाढ़ झेलते है | या फिर यूँकहें की मुंबई जैसी बारिश को वह ‘इस बार काम बारिश हुई’ की संज्ञा दी जाती है

 

जब किसी बड़े शहर में थोड़ी भी बारिश होती है तो पानी सड़कों पर आ जाता है और मीडिया इसे बहुत बड़ी त्रासदी की तरह प्रचारित करता है जबकि सच्चाई है की बड़े शहरों में मीडिया को बाईट लेने के लिए स्टार्स मिल जाते है जबकि बिहार के भूखों नंगों से कोई मीडिया बाईट लेने की हिमाकत नहीं करेगा | सारा खेल TRP का है और इस खेल में जनता के मुद्दे दब जाते हैं |

 

बिहार की बाढ़ का प्रतीकात्मक चित्र

मुंबई जैसे शहरों में देश के नेता तीन हज़ार करोड़ की मुर्तिया लगाने की योजना बनाते हैं लेकिन अगर यही पैसे बरसात के पानी निकासी में लगाए जाएँ तो ऎसी आपदाओं से बचा जा सकता है |

बिहार में आयी बाढ़ से अब तक लगभग 482 लोगों की मौत हो चुकी है |

Comments

About Ajay Singh

mm
Ajay Singh is an Entrepreneur who write about Sports in thenachiketa.

Check Also

पिटते कार्यकर्ताओं को छोड़कर भागे इनलो सांसद दुष्यंत चोटाला,आप नेता नवीन जयहिंद ने किया ट्विटर पर ट्रोल !

कल हरियाणा की इनलो पार्टी ने SYL के मुद्दे को लेकर दिल्ली में प्रदर्शन किया …

Advertisment ad adsense adlogger