Home / Political / पिता से बढ़ती दुरी पर भावुक हुए अखिलेश,शिवपाल को दिखाया बाहर का रास्ता

पिता से बढ़ती दुरी पर भावुक हुए अखिलेश,शिवपाल को दिखाया बाहर का रास्ता

आमिर खान की बहुप्रतीक्षित फिल्म दंगल को रिलीज़ होने में अभी पुरे दो महीने बचे हैं ,लेकिन तब तक आप एक दूसरी दंगल देखकर अपना मनोरंजन कर सकते हैं।सबसे बड़ी बात ये है कि इस दंगल में रोज नए ट्विस्ट आते हैं।ये दंगल है मुलायम सिंह यादव के परिवार का ,जहां रोज नये नये दांव पेंच खेले जा रहे हैं।इस दोनों दंगल में समानता बस यही है कि मुलायम सिंह यादव भी महावीर फोगट की तरह पहलवान ही थे।इसके अलावा जो भी चल रहा है उसमें कहीं कोई समानता नहीं है।
pixlr_20161023131309594

चचा शिवपाल और भतीजे अखिलेश के बीच मुख़्तार अंसारी की पार्टी के विलय को लेकर शुरू हुई जंग अब इस स्तर तक पहुँच चुकी है कि अखिलेश यादव ने आज शिवपाल और उनके समर्थक तीन और मंत्रियों नारद राय, शादाब फातिमा और ओम प्रकाश सिंह को मंत्री परिषद से बर्खास्त करके यह संकेत दे दिया की अब वो भी चुप रहने वाले नहिं हैं।इसके अलावा अमर सिंह की करीबी जयाप्रदा का भी कैबिनेट मंत्री का दर्जा छीन लिया है।मालूम हो की अखिलेश ने पिछले महीने भी तब शिवपाल के अहम मंत्रालय छीन लिए थे जब मुलायम ने अखिलेश की जगह शिवपाल को प्रदेश अध्यक्ष बना दिया था।तब तो इस झगड़े को मुलायम ने सुलझा दिया था और शिवपाल को पीडब्लूडी छोड़कर उनके सारे मंत्रालय वापस मिल गए थे।लेकिन आग पूरी तरह शांत नहीं हुई।शिवपाल एक के बाद एक अखिलेश समर्थक नेताओं को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा रहे हैं।अब अखिलेश कैसे चुप रहते तो उन्होंने शिवपाल को ही बाहर का रास्ता दिखा दिया।लोग ये समझ नहिं पा रहे हैं कि आखिर परिवार में ऐसी कौन सी बात हो गयी है जो ये मामला सुलझ ही नहीं रहा।सूत्र बताते हैं कि इसके पीछे मुलायम के ही एक और भाई रामगोपाल यादव का हाथ है ,जब भी ये आग शांत होने लगती है वो कोई न कोई बयान देकर ,चिट्ठी लिखकर फिर से इस मामले को हवा दे देते हैं।

Ramgopal yadav's letter
Ramgopal yadav’s letter

अंदरखाने ये खबर है कि रामगोपाल ये सब सीबीआई से बचने के लिए कर रहे हैं।दरअसल यूपी के भ्रष्टतम इंजीनियर यादव सिंह के ठिकानों पर छापे के दौरान सीबीआई को एक ऐसी डायरी मिली जिसमें रामगोपाल और उनके बेटे अक्षय को पहुंचाए गये फायदों का जिक्र था,इसमें जिक्र था कि यादव सिंह ने कैसे एक चार करोड़ की कम्पनी अक्षय को 1 लाख में खरीदवा दी और भी कई ऐसे ही सौदे यादव सिंह ने करवाये।इसी मामले में बाप बेटे फंसे हैं।सीबीआई का आदेश यह है कि यूपी चुनाव तक यादव कुनबे में कोहराम मचता रहना चाहिये तभी रामगोपाल बचेंगे।

पार्टी एमएलसी उदयवीर सिंह ने चिट्ठी लिख कर मुलायम सिंह को जब ये कहा कि अखिलेश के खिलाफ साजिश उनकी दूसरी पत्नी के इशारे पर शिवपाल कर रहे हैं ,ये भी रामगोपाल के इशारे पर ही किया गया था।हालाँकि मुलायम ने उदयवीर को पार्टी से बाहर कर दिया।इसी के अगले कदम के रूप में अखिलेश ने ये नयी चाल चली है।पार्टी के MLA,एमएलसी सहित अपने खेमे के युवा नेताओं  के साथ बैठक में अखिलेश ने ये फैसला सुनाया।इस बैठक में कुल 400 से ज्यादा नेताओं ने हिस्सा लिया।इस बैठक में अखिलेश कई बार भावुक भी हुए और कहा कि पिता पुत्र के बीच दरार लाने वालों से वे एक पुत्र के तौर पर निपट लेंगे।वे आखिरी दम तक पिता की सेवा करते रहेंगे।लेकिन सरकार में जो दरार लाने वालों का साथ देंगे वे उन्हें कैबिनेट में नहीं रख सकते।उनका इशारा अमर सिंह की तरफ था।जिनको मुलायम ने खुद अपने हाथ से लिखकर पार्टी का महामंत्री बनाया था ।दो दिन पहले मुलायम,अखिलेश,शिवपाल और रामगोपाल की बैठक में मुलायम ने सभी से मिलकर काम करने की अपील की थी और कहा था कि ये दिन देखने के लिए उन्होंने पार्टी नहीं बनायी थी।लेकिन आज के घटनाक्रम के बाद लगता है कि मुलायम को इससे भी बुरे दिन देखने पर सकते हैं।

Comments

About Akshay Anand

mm
Akshay Anand write about the Political category at thenachiketa

Check Also

jaya_panner-selvam-new-cm-660x330

जयललिता को कार्डिएक अरेस्ट !वरिष्ठ डॉक्टरों की निगरानी में हो रहा इलाज।

पिछले दो महीनों से अस्पताल में भर्ती तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता के समर्थकों के लिये …

Advertisment ad adsense adlogger